विजय माल्या ने कहा, मेरा पैसा ले लो, जेट एयरवेज को कर्ज से बचा लो

विजय माल्या ने कहा, मेरा पैसा ले लो, जेट एयरवेज को कर्ज से बचा लो

नई दिल्ली: जेट एयरवेज के चेयरमैन पद से नरेश गोयल के इस्तीफा देने के बाद भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने कहा है कि बैंक मेरा पैसा वापस ले लें और संकट में फंसे जेट एयरवेज को बचाएं। माल्या ने ट्वीट किया कि सरकारी बैंकों को मुझसे रकम ले लेनी चाहिए ताकि वे जेट एयरवेज को मदद कर सकें। कर्जदाताओं की ओर से 1,500 करोड़ रुपये की मदद जेट एयरवेज को दिलाने के लिए नरेश गोयल ने अपनी पत्नी अनीता समेत सोमवार को कंपनी के पद छोड़ दिए थे।
 
एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए माल्या ने लिखा कि जेट एयरवेज की तरह ही उनकी कंपनी की भी मदद की जानी चाहिए थी। माल्या ने ट्वीट किया, 'यह देखकर खुशी हुई कि सरकारी बैंकों ने जेट एयरवेज को बेल आउट पैकेज दिया ताकि नौकरियां, कनेक्टिविटी औ संस्था को बचाया जा सकेग। यही इच्छा थी कि ऐसा ही किंगफिशर के लिए भी किया जाता।'
 
बैंकों को रकम लौटाने का ऑफर एक बार फिर दोहराते हुए माल्या ने ट्वीट किया, 'मैंने माननीय कर्नाटक हाई कोर्ट के समक्ष अपनी लिक्विड एसेट्स पेश की है ताकि सरकारी बैंकों और अन्य कर्जदाताओं को रकम दी जा सके। बैंक मेरा पैसा क्यों नहीं ले रहे। यदि कुछ और नहीं करते, तब भी वे इसके जरिए जेट एयरवेज को मदद कर सकते हैं।'
 
सरकारी बैंकों का करीब 9,000 करोड़ रुपये कर्ज लेकर भागे शराब कारोबारी ने कहा, 'मैंने कंपनी और एंप्लॉयीज को बचाने के लिए किंगफिशर एयरलाइंस में 4,000 करोड़ रुपये का निवेश किया। इस पर ध्यान नहीं दिया गया और इसकी बजाय उत्पीड़न किया गया। इन्ही सरकारी बैंकों ने देश की सबसे अच्छी एयरलाइन कंपनी को फेल करने का काम किया।