दो चीनी स्टूडेंट्स ने ऐपल को लगाया 7 करोड़ का चूना

दो चीनी स्टूडेंट्स ने ऐपल को लगाया 7 करोड़ का चूना

चीनी मूल के दो स्टूडेंट्स को अमेरिका में ऐपल को करीब 7 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने के लिए अरेस्ट किया गया है। इन स्टूडेंट्स ने कंपनी के इतनी कीमत के आईफोन्स ठगी से हासिल कर लिए थे। The Oregonian की रिपोर्ट के मुताबिक, इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स यांगयांग झोउ और क्वान जियांग पर फेडरल कोर्ट में मुकदमा चलाया जा रहा है। इनपर आरोप है कि चीन से लाए गए नकली आईफोन्स को इन्होंने ऐपल के असली आईफोन्स से रिप्लेस करवा लिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, जियांग रोजाना नकली आईफोन्स के शिपमेंट चीन से मंगवाता था और इसके बाद ऐपल की रिटर्न पॉलिसी के तहत उन्हें कंपनी में भेज देता था। बदले में ऐपल से उसे दूसरा असली फोन मिल जाता था। जांच में ऐपल को पता चला कि जियांग ने इस तरह 3,096 आईफोन्स वारंटी क्लेम करवाया और इनमें से 1,493  आईफोन  रिप्लेस किए गए। इनसे ऐपल को को करीब 6 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ। 

असली आईफोन वापस चीन भेजे जाते थे और जिनके लिए पैसे जियांग की मां को मिल जाते थे, जो चीन में रहती हैं। जियांग अपनी मां का अकाउंट यूएस में ऐक्सेस कर सकता था, जिसमें उसकी मां चीन में असली आईफोन बेचकर पैसे जमा कर देती थीं। झोउ के अड्रेस पर भी नकली आईफोन के कई डिब्बे मिले हैं और उसके नाम से 200 से ज्यादा वारंटी क्लेम लिए गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, जियांग ने 2017 में करीब 2000 आईफोन रिटर्न के लिए भेजे थे। 

दोनों की ओर से कई खराब और ढेरों नकली फोन्स कंपनी के ऑनलाइन सपॉर्ट द्वारा और सीधे भी भेजे गए। ऐपल ऐसे फोन्स को तुरंत जांच नहीं सकता या रिपेयर नहीं कर सकता, जो ऑन नहीं होते और इसी के चलते फ्रॉड हुआ। ऐपल के साथ ऐसा ही एक मामला चीन में भी सामने आया था, जहां पांच साल के अंदर ऐसे कई केसेज के चलते कंपनी को बड़ा नुकसान उठाना पड़ा था।