धमाकों के बाद रक्षा सचिव का इस्तीफा, प्रधानमंत्री ने कहा- फिर हमले शुरू कर सकते हैं आतंकी

धमाकों के बाद रक्षा सचिव का इस्तीफा, प्रधानमंत्री ने कहा- फिर हमले शुरू कर सकते हैं आतंकी

कोलंबो. श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए सिलसिलेवार बम धमाकों की घटना के बाद रक्षा सचिव हेमासीरी फर्नांडो ने गुरुवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने देश के पुलिस प्रमुख पी. जयसुंदर और रक्षा सचिव एच. फर्नांडो को बुधवार को ही इस्तीफा देने के लिए कह दिया था। राष्ट्रपति सिरिसेना ने यह भी कहा था कि आगामी सप्ताह में पुलिस और सुरक्षा बलों का पूरी तरह से पुनर्गठन किया जाएगा। श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने कहा कि आतंकवादी दोबारा हमले शुरू कर सकते हैं। अभी श्रीलंका में कई संदिग्ध मौजूद हैं और उनके पास विस्फोटक हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस और खुफिया एजेंसियों के निशाने पर अब स्लीपर सेल हैं।

पुगोदा शहर में हुआ एक और धमाका, हाई अलर्ट

  1. पूर्वी शहर पुगोदा में गुरुवार को धमाका हुआ, हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ है। धमाकों के बाद देश हाई अलर्ट पर है। श्रीलंका के हवाई क्षेत्र में ड्रोन की उड़ानों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

  2. श्रीलंका पुलिस ने गुरुवार को बताया कि विशेष टॉस्क फोर्स ने राजधानी कोलंबो के मोदारा क्षेत्र से तीन लोगों को देश में बने विस्फोटकों और तलवारों के साथ गिरफ्तार किया। पुलिस प्रवक्ता रूवान गुणाशेखरा ने कहा कि इनके पास से 21 देशी ग्रेनेड, छह तलवार और एक वैन बरामद की गई। 

  3. सरकार ने विदेशी पर्यटकों के लिए वीजा ऑन अराइवल योजना को सुरक्षा कारणों से स्थगित कर दिया है। इसे पूरे देश में एक मई से लागू किया जाना था। इसमें 30 देशों के पर्यटकों को यह सुविधा दी जानी थी।

  4. पर्यटन, वन्यजीव और ईसाई धार्मिक मामलों के मंत्री जॉन अमारातुंगा ने गुरुवार को कहा, “अभी तक की जांच से पता चला है कि इसमें विदेशी संगठनों का हाथ है। हम इस सुविधा का दुरुपयोग नहीं होने देना चाहते हैं।” 

  5. पुलिस ने गुरुवार को दो संदिग्ध फिदायीनों के पिता को हिरासत में लिया। प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने  बताया कि अभी भी कई संदिग्ध हैं, जो धमाके कर सकते हैं। पुलिस ने तीन संदिग्ध महिलाओं और एक पुरुष के संबंध में अपील जारी की है। इन लोगों का संबंध आतंकी संगठन आईएस से हो सकता है।

सूचना मिलने के बाद भी सही एक्शन नहीं लिया गया- प्रधानमंत्री

  1. श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने कहा था कि पुलिस को आतंकी हमले की आशंका को लेकर पूर्व में सूचना मिली थी, फिर भी पर्याप्त कदम नहीं उठाये गए। मंत्रियों के साथ इस सूचना को साझा नहीं किया गया था।

  2. श्रीलंका में गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए आतंकी हमले में 359 लोग मारे गए जबकि 500 से ज्यादा लोग घायल हो गए। इस संबंध में अब तक 75 से ज्यादा संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है।

  3. राष्ट्रपति सिरिसेना ने कहा था कि हम आतंकवादी हमला रोकने में नाकाम रहे। यह चूक रक्षा अधिकारियों की तरफ से हुई। मुझे इस संबंध में पूर्व में मिली सूचना को लेकर भी कोई जानकारी नहीं दी गई।