ED की करवाई, मेहुल चौकसी की करोड़ों की फैक्‍ट्री थाईलैंड में जब्‍त : PNB घोटाला

ED की करवाई, मेहुल चौकसी की करोड़ों की फैक्‍ट्री थाईलैंड में जब्‍त :  PNB घोटाला

करीब साढ़े 13 हजार करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भगोड़े मेहुल चौकसी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने विदेश में चौकसी की करोड़ों की संपत्ति जब्त कर ली है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक ईडी ने धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 के अंतर्गत थाईलैंड में 13.14 करोड़ रुपये की कीमत के कारखाना परिसर को अस्थाई रूप से जब्त कर लिया है। उक्त कारखाना एब्बीक्रेस्ट थाईलैंड लिमिटेड के स्वामित्व वाला है जोकि जो गीतांजलि समूह की एक कंपनी है। 

बता दें कि मेहुल चौकसी गीतांजलि समूह का मालिक है। बता दें कि नए साल के मौके पर एएनआई के दिए अपने विशेष साक्षात्कार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इकोनॉमिक ऑफेंडर्स जैसे कि विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी जैसे भगोड़ों से पाई-पाई वसूलने की बात कही थी। भगोड़ों से जुड़े सवाल पर पीएम मोदी ने सवालिया लहजे में कहा था, आखिर उन्हें भागना क्यों पड़ा? उन्होंने कहा था कि ऐसे भगोड़ों के लिए सरकार ने संपत्ति जब्त करने का कानून बनाया है। ये भगोड़े आज नहीं तो कल आएंगे और इनसे हिंदुस्तान की पाई-पाई का हिसाब लिया जाएगा।

वहीं, भगोड़े मेहुल चौकसी और नीरव मोदी के खिलाफ जांच एजेंसियां लगातार कार्रवाई में तत्पर हैं। पिछले वर्ष दिसंबर में सीबीआई ने चौकसी के खिलाफ इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए आग्रह किया था। वहीं, चौकसी ने अपनी सेहत का हवाला देते हुए भारत न आने की मजबूरी बताई थी। मुंबई की एक कोर्ट को चौकसी ने बताया था कि वह एंटीगुआ से भारत आने के लिए सेहत खराब होने के चलते 41 घंटे का सफर नहीं कर सकता है।

चौकसी ने ईडी पर उसकी सेहत को लेकर गुमराह करने का आरोप लगाया था। चौकसी ने कहा था कि वह बैंकों के संपर्क में है और अपना बकाया लौटाना चाहता है। बता दें कि पीएनबी घोटाला उजागर होने से पहले मेहुल चौकसी 4 जनवरी 2018 को देश छोड़कर भाग गया था और उसका भतीजा नीरव मोदी 6 जनवरी को भाग गया था। मेहुल चौकसी एंटीगुआ और बरमूडा की नागरिकता लेकर वहीं रह रहा है।