तीसरा बच्चा हो तो बच्चे को नहीं मिले वोट का अधिकार : रामदेव

तीसरा बच्चा हो तो बच्चे को नहीं मिले वोट का अधिकार : रामदेव

हरिद्वार : योग गुरु रामदेव ने बढ़ती जनसंख्या की समस्या से निपटने के लिए सरकार को कानून बनाने की सलाह दी है। उनका सुझाव है कि तीसरा बच्चा होने पर उस बच्चे को वोट देने का अधिकार नहीं मिलना चाहिए। रामदेव ने देश की बढ़ती आबादी पर चिंता जताते हुए कहा कि सरकार को इसे लेकर सख्त कानून बनाने चाहिए। उन्होंने पूरे देश में गोवध रोकने के लिए कदम उठाने की भी मांग की। 

हरिद्वार में एक कार्यक्रम में रामदेव ने कहा, 'हमारी जनसंख्या किसी भी हालत में 150 करोड़ से अधिक नहीं होनी चाहिए। हम इससे अधिक जनसंख्या के लिए तैयार नहीं है। यह तभी संभव हो सकता है जब एक कानून बनाकर इस पर रोक लगाई जाए। तीसरे बच्चे कोउन्हें वोट देने का अधिकार न हो, ऐसे लोगों के चुनाव लड़ने पर भी रोक लगाई जानी चाहिए और उन्हें कोई भी सरकारी सुविधा नहीं मिलनी चाहिए।'

रामदेव ने कहा कि भारत को जनसंख्या नियंत्रण पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, 'तीसरे बच्चे के लिए ऐसा नियम बनाया जाए कि वह न तो चुनाव लड़ सके और न ही उसे दूसरी सरकारी सुविधाएं मिलें। ऐसे लोगों को मतदान का अधिकार भी नहीं मिलना चाहिए।' रामदेव ने रविवार को हरिद्वार में में कहा कि अगले 50 वर्षों में देश की आबादी 150 करोड़ से अधिक नहीं होनी चाहिए। हम इससे अधिक बर्दाश्त नहीं कर सकते। 

उन्होंने पूरे देश में गोवध पर रोक की भी मांग की। कहा कि गाय के तस्करों और गोरक्षकों के बीच संघर्ष को रोकने का यही एक तरीका है। रामदेव ने कहा कि किसी भी सूरत में भारत की जनसंख्या 150 करोड़ से अधिक नहीं होनी चाहिए। भारत इसके लिए तैयार नहीं है। हालांकि, माना जा रहा है कि उनके इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया भी आ सकती है।