जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में 56 घंटे चली मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में 56 घंटे चली मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में 56 घंटे तक चली मुठभेड़ के बाद दो आतंकवादी मारे गए और सीआरपीएफ के एक अधिकारी समेत पांच सुरक्षाकर्मी भी शहीद हो गये एवं एक नागरिक की भी जान चली गयी।

रविवार को पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि कुपवाड़ा के बडगाम इलाके में भौगोलिक स्थिति के कारण सुरक्षा बलों को अभियान के दौरान परेशानियों का सामना करना पड़ा। प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार सुबह शुरू हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर हो गए। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ स्थल से दोनों आतंकवादियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। वे लश्कर ए तैयबा से जुड़े थे।

प्रवक्ता के अनुसार एक आतंकवादी की पहचान पाकिस्तानी आतंकवादी के रूप में हुई है जबकि दूसरे की शिनाख्त की जा रही है।

प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार को मुठभेड़ में घायल हो गये सीआरपीएफ के जवान श्याम नारायण यादव की रविवार को मृत्यु हो गयी। इसके साथ ही मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों की संख्या पांच हो गई।

उन्होंने बताया कि दो सीआरपीएफ कर्मी, निरीक्षक पिंटू और कांस्टेबल विनोद और दो पुलिस कर्मी, सिलेक्शन ग्रेड कॉन्स्टेबल नसीर अहमद और गुलाम मुस्तफा बराह शुक्रवार को ही मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गये थे।

उन्होंने बताया कि एक नागरिक वसीम अहमद मीर को भी गोली लग गई थी और उसने भी शुक्रवार को अस्पताल में दम तोड़ दिया।

आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के बाबागुंड इलाके में सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई थी। 

उन्होंने कहा, ‘‘आतंकवादी जहां छुपे थे वह घना इलाका था और पास के घरों से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया था। ’’ 

उन्होंने बताया कि मुठभेड़ स्थल से गोला-बारूद समेत अन्य अवैध सामग्री बरामद हुई है। प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आगे की जांच के लिए सामग्री को रिकॉर्ड में ले लिया है। उन्होंने लोगों से मुठभेड़ स्थल में ना जाने की अपील की है क्योंकि वहां अब भी कोई विस्फोटक हो सकता है।

प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ पुलिस मुठभेड़ स्थल की छानबीन करने और अगर वहां कोई विस्फोटक सामग्री है तो उसे हटाने तक लोगों से सहयोग की अपील करती है।’’