IS की बंगाल में धमाकों की धमकी, 'जल्द आ रहे हैं' संदेश से धमकी

IS की बंगाल में धमाकों की धमकी, 'जल्द आ रहे हैं' संदेश से धमकी

नई दिल्ली: इस्लामिक स्टेट ने श्री लंका में आतंकी हमलों को अंजाम देने के बाद अब भारत में भी ऐसे ही हमलों की धमकी दी है। आईएस समर्थित एक टेलिग्राम चैनल ने बंगला में 'जल्द आ रहे हैं' संदेश के साथ पोस्टर जारी किया है। इंटेलिजेंस एजेंसी से जुडे़ सूत्रों ने बताया कि इस तरह के पोस्टर मिले हैं और इसकी जांच की जा रही है। 

गुरुवार की रात रिलीज किए गए पोस्टर में 'शीघ्रे आश्छी, इंशाअल्लाह...' (जल्द आ रहे हैं) का संदेश था। पोस्टर पर अल मुरसालात का लोगो भी था। सुरक्षा एजेंसियों पोस्टर को बहुत गंभीरता से लिया है क्योंकि ईस्टर के दिन आईएस ने श्री लंका में कई धमाकों को अंजाम दिया है। श्री लंका के स्थानीय आतंकी संगठन तहवीद जमात के जरिए आईएस ने इन धमाकों को अंजाम दिया। बांग्लादेश में भी इस तरह का एक संगठन जमातुल मुजाहिदीन सक्रिय है, यह संगठन भी आईएस से जुड़ा हुआ है। 

जमात-उल-मुजाहिदीन (जेएमबी) का आईएस के साथ कनेक्शन है और इस आतंकी संगठन के कई सदस्य लगातार कोलकाता आते-जाते रहे हैं। कोलकाता के साथ पश्चिम बंगाल के कई और हिस्सों में भर्ती और आतंकियों के छुपने के लिए संगठन के आतंकी आते-जाते रहते हैं। कोलकाता के बाबूघाट से जेएमबी का एक आतंकी अरिफुल इस्लाम इसी साल फरवरी में अरेस्ट भी किया गया है। 

बोधगया में हुए धमाकों को अंजाम देने में अरिफुल भी शामिल था। उसने पूछताछ में बताया था कि आतंकी संगठन असम में भी अपनी पैठ बना रहा है और चिराग असम में संगठन के कई आतंकी सक्रिय हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चिराग में जेएमबी के ट्रेनिंग कैंप बनाने का खुलासा भी अरिफुल ने किया था। 

पिछले साल जुलाई में अमेरिकी एजेंसी एफबीआई ने आईएस-जेएमबी आतंकी मोहम्मद मुसीरुद्दीन उर्फ मूसा से पूछताछ की थी। मूसा को सीआईडी ने बर्दबान स्टेशन पर एक ट्रेन से पकड़ा था। मूसा लंबे समय से तमिलनाडु के तिरुपुर जिले में छुपा था। गिरफ्तारी के बाद उसने जेएमबी के आतंकी अमजद शेख से जुड़े होने की पुष्टि की थी। खागरागढ़ ट्विन ब्लास्ट केस में 2014 में अमजद को सुरक्षा एजेंसियों ने अरेस्ट किया था। 3 साल पहले जेएबी ने बंगाल के कई जिलों में पोस्टर लगाकर स्थानीय युवाओं से आतंकी संगठन में शामिल होने की अपील की थी।