नेपाल में 2015 के भूकंप में क्षतिग्रस्त हुए 72 स्कूल भवनों का पुनर्निर्माण करेगा भारत

नेपाल में 2015 के भूकंप में क्षतिग्रस्त हुए 72 स्कूल भवनों का पुनर्निर्माण करेगा भारत

काठमांडो : नेपाल में 2015 में आए विनाशकारी भूकंप से क्षतिग्रस्त हुए 72 स्कूल भवनों का भारत पुनर्निर्माण करेगा। 

गौरतलब है कि इस प्राकृतिक आपदा में 9,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी और बुनियादी ढांचे को जबरदस्त नुकसान पहुंचा था। 

काठमांडो स्थित भारतीय दूतावास और सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट, रूड़की के बीच हस्ताक्षर किए गए एक समझौता के तहत यह फैसला लिया गया। इस फैसले के तहत नेपाल के सात जिलों में स्कूल भवनों का पुनर्निर्माण किया जाएगा। 

काठमांडो स्थित त्रिभुवन विश्वविद्यालय की सेंट्रल लाइब्रेरी और ललितपुर के पाटन स्थित नेशनल लाइब्रेरी का भी इस परियोजना के तहत पुनर्निर्माण किया जाएगा। 

समझौते के तहत भारत सरकार ने स्कूल भवनों के पुनर्निर्माण के लिए नेपाल को डिजाइन एवं परामर्श सेवाएं देने का वादा किया है। 

अप्रैल 2015 में आए 7. 8 की तीव्रता वाले भूकंप को गोरखा भूकंप के नाम से भी जाना जाता है। इसमें करीब 22,000 लोग घायल भी हुए थे।