एक और बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या, सुरक्षाबल तैनात : पश्चिम बंगाल

एक और बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या, सुरक्षाबल तैनात : पश्चिम बंगाल

कोलकाता : लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से पश्चिम बंगाल में एक के बाद एक दो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कार्यकर्ताओं की मौत से हड़कंप मच गया है। ताजा घटना उत्तर 24 परगना जिले की है जहां एक कार्यकर्ता को अज्ञात लोगों ने गोली मार दी।

इससे पहले चकदहा में एक कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। एक ओर जहां बीजेपी ने घटना के पीछ तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार बताया है, वहीं पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में कोई राजनीतिक संबंध नहीं मिला है। 

उत्तर 24 परगना जिले के भाटापारा में रविवार रात बीजेपी कार्यकर्ता चंदन शॉ की हत्या कर दी गई। अज्ञात लोगों ने उन्हें गोली मार दी। घटना के बाद स्थिति को देखते हुए इलाके में सुरक्षाबल को तैनात कर दिया है। पुलिस ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है। तीन दिन के अंदर दो हत्याओं से तनाव पैदा हो गया है। नादिया के चकदहा में शांतू घोष की हत्या की गई थी। 

बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या में गिरफ्तार
मामले में पुलिस ने 25 वर्षीय भारत बिश्वास उर्फ पोचन को शनिवार को गिरफ्तार किया था। अदालत में पेशी के लिए जा रहे बिश्वास ने संवाददाताओं को बताया कि वह हत्या के दिन घटनास्थल पर मौजूद था, लेकिन अपने मोबाइल फोन पर व्यस्त था। उसने कहा, ‘मैं उस इलाके से भाग गया जब लाल्टू नाम के एक लड़के ने शांतू को गोली मार दी। मैं बहुत डरा हुआ था।’

यह पूछे जाने पर कि क्या इस घटना का कोई राजनीतिक संबंध है, अधिकारी ने कहा कि हत्या के मामले में पुलिस को ‘शुरुआती जांच में कोई राजनीतिक संबंध नहीं मिला है।’ अधिकारी ने कहा, ‘आरोपी, शांतू को जानता था। अभी सब कुछ जांच के दायरे में है।’ 
 
बीजेपी ने तृणमूल पर लगाया आरोप
बीजेपी की राज्य इकाई के प्रमुख दिलीप घोष ने दावा किया कि पार्टी के कार्यकर्ता शांतू को तृणमूल ने निशाना बनाया क्योंकि उसने लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी के लिए कड़ी मेहनत की थी। इस घटना के बारे में पूछे जाने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे बीजेपी की आपसी लड़ाई करार दिया।